Skip to Content

पीड़ित/सर्वाइवर्स को सहायता

घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा भुगत रहे किसी व्यक्ति की मैं कैसे सहायता कर सकता हूँ? घरेलू तथा पारिवारिक हिंसायें घटती रहती हैं - हर तीन महिलाओं में से एक अपने जीवनकाल में घरेलू या पारिवारिक हिंसा भुगतती है। सहायता के लिये आप कुछ व्यवहारिक चीजें कर सकते हैं।

घरेलू और पारिवारिक हिंसा: बच्चों की सुरक्षा

1800RESPECT
25 AUG 2014

मुझे किन बातों पर निगाह रखनी चाहिये?

कुछ व्यवहार तथा लक्षण ऐसे होते हैं जो घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा भुगत रहे लोगों में सामान्यतया नजर आते हैं।

हो सकता है घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा भुगत रहे व्यक्ति:

  • बिना किसी स्पष्ट कारण के, बाहर जाना बन्द कर दें अथवा, पूछने पर, बतायें कि उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं है।

  • चिन्तित, अवसादग्रस्त, थके हुए नजर आयें या बिना स्पष्ट कारणों के उनकी आँखें अश्रूपूर्ण नजर आयें।

  • अपने साथी के साथ होने पर घबराये हुए, सावधान, स्व-आलोचक या संकोची नजर आयें, अथवा ऐसा लगे कि उनका साथी उनसे अशिष्ट या कठोर है।

  • उनको चोट लग जाये या अस्पताल में पहुँच जाये जिससे आपका सन्देह बढ़ जाये।

  • वे अपनी गतिविधियों या खर्चों के लिये सफाई देते रहें।

  • यह कहें कि उनका पीछा किया जाता है, निगरानी की जाती है, छुप-छुप कर पीछा किया जाता है या उन पर नियंत्रण रखा जाता है।

यदि आप और अधिक जानना चाहते हैं तो कृपया घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा क्या है? पढ़ें।

पूछना

कहीं कोई समस्या है, इस बारे में निश्चित होने का अन्ततः केवल यही तरीका है कि उस व्यक्ति से पूछा जाये कि क्या हो रहा है?

निःसन्देह, यह काम कठिन हो सकता है।

परिवार के सदस्य या मित्र सीधे, सौम्य प्रश्नों द्वारा कोशिश कर सकते हैं, जैसे किः

  • क्या घर पर सब ठीक है?

  • मेरा ध्यान उस चोट पर गया, क्या वो चोट किसी ने तुमको पहुँचाई है?

  • ऐसा लगता है कि तुम्हारा साथी तुमको डरा रहा/ही है, क्या सब ठीक-ठाक है?

  • क्या तुम ठीक हो?

सुनने के लिये माहौल तैयार करें, और अपने मित्र या प्रियजन को अकेले में बातचीत के अवसर दें, लेकिन दबाव नहीं डालें, सीधे जोर देकर नहीं पूछें।  दबाव और सीधे जोर देकर पूछने में आपके मित्र या प्रियजन के और भी एकाकी हो जाने का खतरा होता है।

क्या करना चाहिये?

दुर्व्यवहार की बात करने के लिये हिम्मत की जरुरत होती है। बहुत से पीड़ितों/सर्वाइवर्स को डर होता है कि उन पर विश्वास नहीं किया जायेगा। जब कोई व्यक्ति आपसे कहता है कि उसके साथ दुर्व्यवहार हो रहा है तो उसके डर को गंभीरता से लेना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, यदि आप ये सोचते हों कि उसका साथी या पूर्व साथी मोहक, दयालू या अच्छा व्यक्ति लगता है तब भी। जो लोग घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा करते हैं वे अन्य लोगों के सामने स्वयँ को सकारात्मक रुप में पेश करने में माहिर होते हैं। यह दुर्व्यवहार के पैटर्न का एक हिस्सा हो सकता है।

यहाँ कुछ तरीके दिये जा रहे हैं जिनसे आप अपने परिवार के किसी सदस्य या मित्र की सहायता कर सकते हैं:

  • उनकी आशंकाओं को गंभीरता से लें।

  • हिंसा कभी भी सही नहीं होती। उस व्यक्ति को दोषी नहीं ठहराये और दुर्व्यवहार के लिये दुर्व्यवहारकर्ता की जिम्मेदारी को कम नहीं बतायें।

  • एक हिंसक साथी को छोड़ते समय हिंसा के स्तर में वृद्धि, गृह-विहीनता तथा निर्धनता सहित - बहुत सी बाधायें, कठिन विकल्प तथा अक्सर गहराई तक छाया हुआ डर या आशंकायें बीच में आती हैं। हो सकता है कि वह पीड़ित/सर्वाइवर तैयार नहीं हो अथवा छोड़ना सुरक्षित नहीं हो।

  • याद रखें कि घरेलू या पारिवारिक हिंसा में शारीरिक दुर्व्यवहार से भी अधिक बातें शामिल होती हैं। इसके कर्ताओं द्वारा अपमानजनक शब्दों तथा भावनात्मक दुर्व्यवहार द्वारा आत्मविश्वास को निशाना बनाया जाता है तथा वे जिस व्यक्ति से दुर्व्यवहार करते हैं उसे 'चकनाचूर' करने का प्रयास करते हैं। उनके उस बल व लचीलेपन को पहचाने जिसने उनको व उनके बच्चों को सुरक्षित रखा है।

  • सुरक्षित होने के लिये विकल्प तय करने में सहायता करें चाहे वह दुर्व्यवहारकर्ता के साथ रहने का या छोड़ने का हो। सुरक्षा योजना बनाने से संबंधित पृष्ठ देखें।

  • व्यवहारिक तरीकों से सहायता करें - परिवहन, अपोइंटमेंट्स, बच्चों का ध्यान रखने, अथवा राहत के लिये एक जगह उपलब्ध कराने में। घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा सेवाओं के बारे में पता लगायें और एक अपोइंटमेंट तय करने में सहायता करें।

  • पूरे परिवार पर हिंसा के प्रभावों को देखना। यदि बच्चे शामिल हों तो, उन्हें अपनी परवाह और सहायता का अहसास करायें और अपने क्षेत्र की एक बाल या परिवार सेवा [links] के माध्यम से उनके लिये उचित सहायता की कोशिश करें।

  • अपने राज्य या टेरीटोरी में सुरक्षा आदेशों के बारे में बात करें।

याद रखें, घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा खतरनाक हो सकती है। यदि आपके परिवार के किसी सदस्य, मित्र या उनके बच्चों को नुकसान पहुँचाया जा रहा हो या आपको डर हो कि उन पर शीघ्र ही हमला होने वाला है, तो 000 पर फोन करें।

 

आप कैसे सहायता कर सकते हैं इस बारे में यदि आप अधिक जानकारी चाहते हैं तोः

 

तुरंत खतरे के मामले में पुलिस की सहायता के लिये 000 पर फोन करें।

आपातकाल में TTY (टेलिटाइपराइटर) अथवा नेशनल रीले सर्विस काम में लेते हुए फोन करने के लिये Calls to emergency servicesपर जायें।