Skip to Content

जिस व्यक्ति के साथ यौन दुराचार हो चुका है उसकी सहायता कैसे करें?

यौन दुराचार सामान्य है - पाँच महिलाओं में से लगभग एक के साथ यौन दुराचार होता है। सहायता के लिये कुछ व्यवहारिक चीजें हैं जो आप कर सकते हैं।

यौन शोषित मित्र को कैसे सहयोग दें

1800RESPECT
24 AUG 2014

जब किसी व्यक्ति को यौन हिंसा झेलनी पड़ती है तो, बात करने के लिये वे जिसे चुनते हैं वह व्यक्ति महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। परिवार का एक सहयोगी सदस्य, मित्र या सह-कर्मी, सहयोग व सहायता का एक महत्वपूर्ण साधन हो सकता हैं। यह जानना कठिन हो सकता है कि प्रत्युत्तर कैसे दिया जाये तथा आपको कुछ गलत कर बैठने की भी चिंता हो सकती है। कुछ सरल चीजें ऐसी हैं जो आप कर सकते हैं तथा निम्नलिखित सूचना प्रत्युत्तर में आपकी सहायता करेगी। साथ ही प्रोफेशनल सहायता उपलब्ध है।

यौन दुराचार के बारे में अधिक जानने के लिये आप, यौन दुराचार क्या होता है? पढ़ सकते हैं।

सहायता पाना

सहायता पाने के लिये, यौन दुराचार सेवायें एक प्रारंभिक स्थल हो सकती हैं। वे उन लोगों के लिये सलाह तथा सूचना प्रदान करती हैं जिनके साथ हाल ही में यौन दुराचार हुआ है, तथा जो लोग सहायता प्रदान कर रहे हैं। नजदीकी यौन दुराचार सेवाओं के बारे में विवरण यहाँ पर मिल [ईंग्लिश में] सकता है।  अधिकांश सेवाओं में दुभाषिये तथा कार्य समय से बाहर की अवधि में सहायता उपलब्ध होती है।
1800RESPECT चौबीसों घंटे फोन सेवा भी एक अच्छा प्रारंभिक स्थल हो सकती है। 1800RESPECT जिन लोगों के साथ यौन हिंसा हुई है उनके लिए तथा उनके परिवार, मित्रों और सहायता करने वाले कर्मचारियों के लिये फोन काउंसलिंग, सलाह तथा सूचना प्रदान करता है, 1800 737 732 पर फोन करें।

क्या करना चाहिए

यौन दुराचार के बारे में बात करना पीड़ितों/सर्वाइवर्स के लिये कठिन हो सकता है। हम जानते हैं कि बहुत से पीड़ितों/सर्वाइवर्स को यह डर होता है कि उन पर विश्वास नहीं किया जायेगा, उन पर आरोप लगाया जायेगा अथवा उनके अनुभव को अस्वीकार या न्यूनतम कर दिया जायेगा।
निम्नलिखित छः कदम इस प्रकार के डर के हल में तथा यौन दुराचार झेल चुके व्यक्ति को सहयोग/सहायता के बारे में सहायता करेंगे।

विश्वास

जब कोई आपको कहता है कि उसके साथ यौन दुराचार हुआ है तो, आपका काम है उनका विश्वास, सहयोग करना तथा आगे क्या करना है यह पता करने में उनकी सहायता करना। बहुत से प्रश्न पूछने की ईच्छा होना स्वाभाविक होता है, लेकिन प्रश्न हस्तक्षेप का भी आभास दे सकते हैं। पूछने से पहले, सुनें।

सुनना

कुछ लोग अपने अनुभव के बारे में तुरंत बात करना चाहते हैं, कुछ लोग नहीं चाहते। जब कोई पीड़ित/सर्वाइवर बात करने के लिये तैयार हो जाये तो, बिना व्यवधान डाले सुनने, तथा सहारा देने और अपनी राय नहीं बनाने की पेशकश करना, सहायता का महत्वपूर्ण अंश होता है।

विकल्पों का पता लगाने में सहायता

कोई पीड़ित/सर्वाइवर अपने अधिकारों तथा विकल्पों के प्रति जागरुक है यह सुनिश्चित करके आप, आगे क्या होगा उसमें उनके जितना हो सके उतने नियंत्रण के अधिकार को स्वीकारते हैं। आप सेवाओं तथा उनका उपयोग कैसे किया जाता है उसके बारे में मालुम करके सहायता कर सकते हैं। यौन दुराचार के प्रभावों कारण पीड़ित/सर्वाइवर के लिये इन बातों के बारे में तुरंत सोचना कठिन हो सकता है। सेवाओं का पता लगाने तथा उन तक पहुँचने में सहायता करना एक अच्छा प्रारंभिक काम हो सकता है यदि पीड़ित/सर्वाइवर इस विकल्प का उपयोग करना चाहता है तो।

आरोप कभी नहीं लगायें

यौन दुराचार के लिये पीड़ितों/सर्वाइवर्स पर कभी भी आरोप नहीं लगाना चाहिये। यौन दुराचार कभी भी सही नहीं होता। एक व्यक्ति ने क्या पहना है, उनकी सँस्कृति क्या है, वे नशीले पदार्थों या मदिरा का कितना सेवन करते हैं, अथवा कर्ता से उनका क्या रिश्ता है यह सब किसी व्यक्ति द्वारा किसी अन्य व्यक्ति के साथ यौन दुराचार के लिये कभी भी उत्तरदायी नहीं होते।

छूने से पहले पूछें

एक यौन दुराचार के बाद, कुछ लोग नहीं चाहते कि उन्हें छुआ जाये। पूछना महत्वपूर्ण होता है। उदाहरण के लिये: "क्या मेरे द्वारा आपको गले लगाया जाना आपको ठीक लगेगा?" इस तरीके से आपके कारण बुरी यादों को फिर से ताजा होने अथवा दुराचार से जुड़े सदमें की पुनः अनुभूति होने की संभावना कम हो जायेगी।

अपनी स्वयँ की भावनाओं को पहचानें तथा खुद के लिये सहायता खोजें

जब कोई प्रियजन किसी हिंसक या सदमाकारक अनुभव से गुजरता है तो परेशान, यहाँ तक कि क्रोधित महसूस करना सामान्य होता है। अपनी भावनाओं को पहचानें और जब आपको जरुरत हो तो खुद के लिये सहायता खोजें। आप 1800RESPECT को कॉल कर सकते हैं, अथवा एक यौन दुराचार सेवा या अपने स्वास्थ्य संव्यवसायिक (प्रोफेशनल) से बात कर सकते हैं।

यौन दुराचार के प्रभाव

यौन दुराचार के प्रभावों को समझने से हमें उस व्यक्ति को सहयोग देने में सहायता मिल सकती है जिसने यौन दुराचार झेला हो। यौन दुराचार के प्रभाव बहुत प्रकार के हो सकते हैं तथा उनमें शारीरिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक प्रभाव शामिल हैं। हम जानते हैं कि अधिकांश यौन दुराचार किसी जाने-पहचाने तथा विश्वसनीय व्यक्ति द्वारा किये जाते हैं अतः अक्सर इसके प्रभाव परिवार या मित्र समूह में एक गहरी खाई के रुप में सामने आते हैं। जिन लोगों ने यौन दुराचार झेला हो उनकी तुरंत आवश्यकताओं के लिये अच्छी तरह प्रत्युत्तर देने से हानि को कम करने में सहायता मिल सकती है। लोगों के स्वस्थ (अच्छे) होते जाने के साथ-साथ निरंतर सहयोग करते रहना भी महत्वपूर्ण होता है।

स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे

हाल ही में यौन दुराचार झेल चुके किसी व्यक्ति का सहयोग करने का मतलब, उनसे किसी शारीरिक चोट एवम्/अथवा स्वास्थ्य संबंधी अन्य मुद्दों पर बतचीत भी हो सकता है।  एक पीड़ित/सर्वाइवर को जिन बातों की चिंता हो सकती है उनमें शामिल हैः

  • गर्भावस्था

  • यौन संचरित संक्रमण (STIs)

  • HIV का खतरा

  • सामान्य स्वास्थ्य संबंधी चिंतायें


एक स्वास्थ्य देखभाल अभ्यासकर्ता को यह बात ध्यान में रखनी चाहिये कि यौन दुराचार का अनुभव पीड़ित/सर्वाइवर की स्वयँ के शरीर पर नियंत्रण की समझ पर गंभीर रुप से कमी ला देता है। उनके साथ किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप में, उनके स्वयँ अपने शरीर पर तथा निर्णय लेने पर नियंत्रण की, समझ को अधिकतम बनाने की जरुरत होती है।

पुलिस को रिपोर्ट करना

यदि पीड़ित/सर्वाइवर दुराचार की पुलिस में रिपोर्ट करना चाहता/ती है तो, कुछ महत्वपूर्ण मुद्दे ऐसे हैं जिनके बारे में सोचना चाहिये। यदि पीड़ित/सर्वाइवर के साथ सहयोग करने वाला व्यक्ति इस बात के प्रति जागरुक हो कि व्यवस्था कैसे काम करती है, तथा यदि वह मुख्य बातों पर सम्माननीय तथा सहानुभूतिपूर्ण तरीके से बात करने में सक्षम हो तो उपयोगी होता है। इससे पीड़ित/सर्वाइवर को अधिक नियंत्रण और विकल्प मिलते हैं।
हो सकता है कि एक पीड़ित/सर्वाइवर पुलिस में रिपोर्ट लिखाना, या चिकित्सीय अथवा अदालती चिकित्सीय (फोरेन्सिक) परीक्षण नहीं कराना चाहे। यह एक व्यक्तिगत निर्णय होता है जिसका सम्मान अवश्य होना चाहिये।
ऑस्ट्रेलिया में पुलिस, धार्मिक या राजनैतिक समूहों से पृथक, स्वतंत्र रुप से काम करती है। पुलिस का मार्गदर्शन आपराधिक संविधि (कानूनों) द्वारा किया जाता है जो लिखित रुप में हैं और साधारण जन द्वारा प्रत्येक राज्य की पार्लियामेंट के होमपेज पर लॉग-ऑन करके उन तक पहुँचा जा सकता है। पुलिस का काम है यौन दुराचार की लिखाई गई किसी भी रिपोर्ट से संबंधित बातों के प्रमाण एकत्रित करना और जाँच करना।

एक रिपोर्ट करते समय जिन बातों पर विचार करना चाहिए

आपकी स्थानीय यौन दुराचार सेवा द्वारा आपके राज्य अथवा टेरीटोरी में रिपोर्ट करने और कानूनी प्रक्रिया के बारे में समझने में आपकी सहायता की जा सकती है। कानूनी भाषा और प्रक्रियायें असमंजसकारी हो सकती हैं, लेकिन यदि कोई बात स्पष्ट नहीं हो तो आप किसी भी समय आग्रह कर सकते हैं कि आपको वो बात सरल भाषा में समझाई जाये। यदि आपको कुछ समझ में नहीं आये तो पूछने में संकोच नहीं करें।

जब बच्चे तथा कम आयु के लोग शामिल हों

जब बच्चे या कम आयु के लोगों को यौन दुराचार झेलना पड़ता है तो, वे जिस व्यक्ति से सबसे पहले बात करते हैं वह व्यक्ति सुरक्षा तथा सहयोग पाने और 'भावनात्मक प्राथमिक चिकित्सा' प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।
अपनी भूमिका के बारे में स्पष्ट रहें बच्चों और कम आयु लोगों पर विश्वास करने, ढांढ़स बंधाने तथा उन्हें यह महसूस करने में सहायता देने की जरुरत होती है कि जो हुआ है उसले लिये वे किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं हैं। प्रकट (डिस्क्लोज) करते समय, एक बच्चा या कम आयु का व्यक्ति दुर्व्यवहार रोकने के लिये उनके प्रतिनिधि के रुप में कार्यवाही के लिये आप पर निर्भर कर रहा होता है।
एक बच्चे के साथ किसी भी प्रकार की यौन क्रिया एक अपराध होता है और इसकी रिपोर्ट पुलिस को की जा सकती है। 000 पर फोन करें।
यदि आप किसी ऐसे बच्चे या कम आयु वाले व्यक्ति की सहायता कर रहे हैं जिसके साथ यौन दुराचार हुआ है तो, कुछ सेवायें ऐसी हैं जो सहायता कर सकती हैं।
जब बच्चे या कम आयु के व्यक्ति शामिल हों तो, उपरोक्त सूची में दी गईं सेवाओं के अतिरिक्त सामान्य भाग में, कुछ ऐसी बातें हैं जिन्हें याद रखना चाहिये। आपकी स्थानीय यौन दुराचार सेवा अथवा बाल सुरक्षा सेवायें, प्रतिक्रिया की योजना बनाने व विकल्पों को समझने के लिये सूचना तथा सहायता का स्त्रोत होती हैं।

किसी बच्चे के बारे में चिंतित प्रत्येक व्यक्ति को अपनी स्थानीय बाल सुरक्षा सेवा से बात करनी चाहिये। सभी राज्यों में अब अनिवार्य रिपोर्टिंग कानून हैं। इन कानूनों का मतलब है कि कुछ लोगों के लिये किसी भी चिंता की उचित अधिकारियों को रिपोर्ट करना कानूनी रुप से आवश्यक है। यदि आप इस बारे में सुनिश्चित नहीं हैं कि रिपोर्ट की जाये या नहीं तो, रुकें और विचार विमर्श करें। आप सहायता के लिये, हमेशा उस क्षेत्र के विशेषज्ञ जैसे कि आपकी स्थानीय यौन दुराचार सेवा या बाल सुरक्षा एजेंसी से बात कर सकते हैं। 1800RESPECT  द्वारा अनिवार्य रिपोर्टिंग के बारे में आपकी भाषा में सलाह प्रदान की जा सकती है, 1800 737 732 पर फोन करें।
यौन दुराचार झेल रहे बच्चों या कम आयु के व्यक्तियों की सहायता करते समय, एक व्यस्क के रुप में आपका काम है कि सुरक्षा पाने तथा दुर्व्यवहार समाप्त करने में उनकी सहायता करें।