Skip to Content

सुरक्षा योजना बनाने के बारे में

सुरक्षा योजना बनाना, जब असुरक्षा की स्थिति हो तो, उस समय की कार्यवाहियों के बारे में सोचने और योजना तैयार करने का एक तरीका होता है।

घरेलू और पारिवारिक हिंसा: अपना ध्यान रखने की योजना कैसे बनाएं

1800RESPECT
21 AUG 2014

सुरक्षा योजना बनाने के कई अलग-अलग तरीके होते हैं। योजना ऐसी होनी चाहिये जो व्यक्तिगत परिस्थितियों के अनुकूल हो और तुरंत सुरक्षा को बढ़ावा दे। परिस्थितियों में परिवर्तन होने पर वह योजना भी बदल जायेगी।
जब घरेलू या पारिवारिक हिंसा हो रही होती है तो, एक योजना, सुरक्षा में वृद्धि के विकल्पों और सुझावों का पता लगाने और उनका ब्यौरा तैयार करने में सहायता कर सकती है। इससे उन लोगों को भी सहायता मिल सकती है जो किसी जान-पहचान वाले कर्ता के हाथों यौन दुराचार झेल रहे होते हैं।
सहयोग तथा सूचना के बारे में सहायता के लिये परिवार और मित्र महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। व्यवस्था और सहयोग में सहायता के लिये घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा सेवायें एवम् यौन दुराचार सेवायें भी हैं। यह सेवायें विकल्पों के बारे में सोच-विचार में सहायता कर सकती हैं।

सुरक्षा योजना को समझना

हो सकता है आप अपने लिये अथवा परिवार के एक ऐसे सदस्य या मित्र के साथ जो हिंसा झेल रहे हों, के लिये सुरक्षा योजना बना रहे हों।

आपके लिये एक सुरक्षा योजना

यदि आप अपने लिए एक सुरक्षा योजना बना रहे हैं तो, आपको पहले से ही अच्छी तरह से पता होगा कि किस चीज ने काम किया है और किसने

नहीं। यह एक मज़बूती होती है। उन चीजों के बारे में सोचें जो पहले काम कर चुकी हैं, उसके बाद निम्नलिखित सूची को यह जानने के लिये देखें कि क्या कोई अन्य विकल्प ऐसे हैं जो सुरक्षा के लिये एक कार्यवाही योजना बनाने में आपकी सहायता कर सकते हैं।

अपने लिये एक सुरक्षा योजना बनाते समय याद रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बातें इस प्रकार हैं:

  • हिंसा के लिये कर्ता जिम्मेदार होता है। हिंसा को टालने का प्रयास करने से आपको यह महसूस होने लग सकता है कि आप 'नाजुक परिस्थितियों में हैं' क्योंकि जो लोग दुर्व्यवहार करते हैं वे अक्सर अपने गुस्से और नियंत्रण के लिये भयंकर क्रोधित होने को उचित ठहराने और बहाना बनाने के लिये नये कारण खोजते हैं।  सुरक्षा कैसे बढ़ाई जाये उस बारे में पता लगाना (काम करना), हिंसा या 'स्थिति बिगड़ने' की जिम्मेदारी लेने जैसा नहीं होता। 

  • सुरक्षा योजनाओं को नियमित रुप से अपडेट करते रहना जरुरी होता है, विशेषकर जब चीजें बदलती हैं, जैसे कि गर्भावस्था, नये शिशु का जन्म, अथवा जीने की परिस्थितियों में बदलाव।

  • घरेलू तथा पारिवारिक हिंसा सेवायें आपकी सहायता कर सकती हैं और आपके पास जो सुझाव हैं उनके अतिरिक्त अन्य सुझाव भी प्रदान कर सकती हैं। स्थानीय सेवाओं के लिये यहाँ [ईंग्लिश में] देखें, अथवा 1800RESPECT को 1800 737 732 पर फोन करें।

परिवार तथा मित्रों के साथ एक सुरक्षा योजना

हिंसा भुगत रहे किसी व्यक्ति के साथ सुरक्षा योजना बना रहे हों तो, शुरुआत सुनने से करें। महिला अपनी परिस्थिति के बारे में स्वयँ एक विशेषज्ञ होती है। जो हो रहा है, उस बारे में पहले सुनें, फिर प्रश्न पूछें। इससे आपको खतरों को समझने में सहायता मिलेगी। पता करें कि वह सुरक्षा बढ़ाने के लिये पहले से क्या कर रही है, और फिर किन चीजों से उसकी सुरक्षा और बढ़ सकती है उस बारे में सोच-विचार में उसकी सहायता के लिये इसे आधार बनायें। निम्नलिखित जाँच-सूची इस बारे में कुछ सुझाव प्रदान कर सकती है कि योजना कैसे बनाई जाये लेकिन ये सारे सुझाव प्रासंगिक नहीं होंगे।

यह बात दिमाग में रखें कि कर्ता एक से अधिक हो सकते हैं और अन्य व्यक्तिगत आवश्यकतायें ऐसी हो सकती हैं जो योजना को प्रभावित करें।

याद रखें कि राय बनाना या निर्णय लेना आपका काम नहीं है। 'बस छोड़ देना' हमेशा एक सुरक्षित योजना नहीं होती। हम जानते हैं कि छोड़ देने का समय वो होता है जब जीवन और सुरक्षा को अधिकतम खतरा हो। अपने मित्र या परिवार के साथ मिलकर एक ऐसी योजना बनायें जो उसके लिये उपयोगी हो।

मित्र और परिवार के लिये सुरक्षा योजना बनाते समय याद रखने वाली महत्वपूर्ण बातें इस प्रकार हैं:

  • एक सुरक्षा योजना एक विश्वासपूर्ण रिश्ता बनाने का हिस्सा हो सकता है। यह रिश्ता पीड़ितों/सर्वाइवर्स के लिये सर्वाधिक महत्वपूर्ण साधन हो सकता है।

सुरक्षित रहने की एक जाँच-सूची

यह जाँच-सूची उन बातों की एक साधारण मार्गदर्शिका है जो, सुरक्षा बढ़ाने में सहायता के लिये आप कर सकते हैं। कृपया ध्यान दें कि प्रत्येक व्यक्ति की व्यक्तिगत परिस्थितियों के अनुरुप सुरक्षा की योजना बनाने की आवश्यकता होती है।